Blue Aadhar Card: बनाने की प्रक्रिया, सफेद वाले आधार कार्ड से कितना और क्या है अलग


Blue Aadhaar card: भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने हाल ही में पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किया गया एक विशिष्ट नीला आधार कार्ड पेश करके एक अनूठी पहल शुरू की है। इस कार्ड में किसी भी नियमित आधार कार्ड की तरह ही 12 अंकों की विशिष्ट पहचान संख्या होती है। गौरतलब है कि आधार कार्ड विभिन्न सरकारी और निजी उद्देश्यों के लिए आधिकारिक पहचान दस्तावेज के रूप में महत्वपूर्ण महत्व रखता है।

इसके अलावा, यह पहचानना आवश्यक है कि आधार कार्ड की विभिन्न श्रेणियां मौजूद हैं, नीला आधार कार्ड विशेष रूप से उन बच्चों के लिए जारी किया जाता है जो शून्य से पांच वर्ष की आयु वर्ग में आते हैं। अब, आइए इस विशेष नीले आधार कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानें।

Blue Aadhaar Card 2024

विशेषताजानकारी
कार्ड का प्रकारBlue Aadhaar card (बाल आधार)
लक्षित समूह5 साल से कम उम्र के बच्चे
बायोमेट्रिक आवश्यकतानहीं
आवश्यक दस्तावेजजन्म प्रमाण पत्र, माता-पिता का आधार कार्ड
जारी करने वाला प्राधिकरणभारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI)
आवेदन प्रक्रियाUIDAI की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन या निकटतम आधार सेवा केंद्र पर ऑफलाइन आवेदन
उपयोगितापहचान पत्र के रूप में
बायोमेट्रिक अपडेटबच्चे के 15 वर्ष की उम्र होने पर पूर्ण बायोमेट्रिक डेटा अपडेट की आवश्यकता होती है
हेल्पलाइन नंबर1947

क्या है ब्लू आधार कार्ड (Blue Aadhaar Card)

आधार कार्ड आज की दुनिया में प्रत्येक भारतीय के लिए एक अनिवार्य आवश्यकता बन गया है, जो सरकारी और निजी दोनों लेनदेन के लिए पहचान का एक महत्वपूर्ण रूप है। इसके विभिन्न प्रकारों में नीला आधार कार्ड भी है, जो इस दस्तावेज़ के व्यापक उपयोग और महत्व को उजागर करता है।

इसकी अपरिहार्यता असंख्य कार्यों के लिए इसकी आवश्यकता से स्पष्ट है, चाहे वह सार्वजनिक या निजी क्षेत्र में हो। व्यक्तियों की पहचान सत्यापित करने में एक महत्वपूर्ण उपकरण के रूप में कार्य करते हुए, आधार कार्ड में पूरा नाम, पता और जन्म तिथि जैसी महत्वपूर्ण जानकारी होती है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) द्वारा जारी, इस कार्ड में 12 अंकों की एक अद्वितीय संख्या होती है जो इसे पहचान के अन्य रूपों से अलग करती है।

किसके लिए होगा उपयोगी

ब्लू आधार कार्ड विशेष रूप से पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए बनाया गया है, लेकिन दुर्भाग्य से, बहुत से लोगों को इस तथ्य के बारे में पता नहीं है। इसलिए, इस लेख में, हमारा लक्ष्य आपको ब्लू आधार कार्ड के लिए आवेदन करने के तरीके के बारे में एक व्यापक मार्गदर्शिका प्रदान करना है। इसके अतिरिक्त, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि आधार कार्ड स्वयं विभिन्न प्रकारों में आता है, प्रत्येक का एक अलग उद्देश्य होता है।

दरअसल, पारंपरिक सफेद आधार कार्ड के अलावा, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) नीले आधार कार्ड का विकल्प भी प्रदान करता है। गौरतलब है कि ब्लू आधार कार्ड विशेष रूप से यूआईडीएआई द्वारा 2018 में पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए पेश किया गया था, और इसमें 12 अंकों की एक अद्वितीय पहचान संख्या होती है।

Blue Aadhaar card के बारे में जानकारी (Information)

नीला आधार कार्ड, जिसे बाल आधार कार्ड भी कहा जाता है, विशेष रूप से भारत में पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों को प्रदान किया जाता है। अन्य आधार कार्डों के विपरीत, इस कार्ड में बायोमेट्रिक जानकारी शामिल करने की आवश्यकता नहीं है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने इस विशेष आधार कार्ड के लिए आवेदन प्रक्रिया को सुव्यवस्थित और आसान बनाने के लिए उपाय किए हैं।

पहले आधार कार्ड बनवाने के लिए जन्म प्रमाण पत्र का होना जरूरी था। हालाँकि, अब जन्म प्रमाण पत्र की आवश्यकता के बिना नीले आधार कार्ड के लिए आवेदन करना संभव है। यह सुविधाजनक विकल्प व्यक्तियों को अपने घर बैठे ही आसानी से कार्ड के लिए आवेदन करने की अनुमति देता है।

Blue Aadhaar card के लिए आवेदन प्रक्रिया (Application Process)

  • सबसे पहले, अपने इंटरनेट ब्राउज़र में www.UIDAI.gov.in टाइप करके भारत सरकार की विशेष वेबसाइट UIDAI पर जाएं।
  • इसके बाद ‘आधार कार्ड’ वाले विकल्प को चुनें।
  • एक नया पेज खुलेगा जहां आपको बच्चे का नाम, फोन नंबर, ईमेल पता और अन्य विवरण लिखना होगा।
  • आपके द्वारा लिखी गई सभी चीज़ों को देखें और फिर शिक्षक को पेपर दें।
  • फॉर्म भरने के बाद आपको UIDAI सेंटर पर जाना होगा।
  • यूआईडीएआई केंद्र पर जाने से पहले, ऑनलाइन अपॉइंटमेंट बुक करना सुनिश्चित करें।
  • मिलने और चरणों को पूरा करने के लिए समय निर्धारित करने के लिए ‘अपॉइंटमेंट लें’ बटन चुनें।

क्या बायोमेट्रिक सत्यापन अनिवार्य है? (Is it mandatory to provide biometric information?)

पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए नीला आधार कार्ड प्राप्त करने के लिए बायोमेट्रिक डेटा आवश्यक नहीं है। यूआईडीएआई माता-पिता को अपने छोटे बच्चे के लिए बाल आधार के लिए आवेदन करने की अनुमति देता है, और उन्हें नामांकन के लिए जन्म प्रमाण पत्र, अस्पताल छुट्टी पर्ची, या स्कूल आईडी जैसे दस्तावेज प्रदान करने होंगे।

आधार कार्ड शुरू में बच्चों को उनके जनसांख्यिकीय विवरण और उनके माता-पिता के आधार कार्ड में मौजूद चेहरे की तस्वीर के आधार पर जारी किया जाता है। हालाँकि, जब बच्चा 15 वर्ष का हो जाता है, तो उन्हें अपनी बायोमेट्रिक जानकारी अपडेट करनी होती है, जिसमें दस उंगलियों के निशान, एक आईरिस स्कैन और एक नई चेहरे की तस्वीर शामिल होती है। यह अपडेट निःशुल्क प्रदान किया जाता है।

आधार कार्ड सहायता हेल्पलाइन (Helpline Number)

यदि आपको अपने आधार कार्ड से संबंधित कोई समस्या आती है और समाधान की आवश्यकता है, तो आप हेल्पलाइन नंबर 1947 डायल करके सहायता के लिए आसानी से पहुंच सकते हैं, जो विशेष रूप से भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के लिए नामित है। यह हेल्पलाइन पूरे सप्ताह, सोमवार से शनिवार तक, सुबह 7 बजे से शुरू होकर रात 11 बजे तक संचार के लिए उपलब्ध है। हालाँकि, रविवार को, हेल्पलाइन थोड़े अलग समय पर संचालित होती है, जो सुबह 8 बजे से शुरू होती है और शाम को 5 बजे समाप्त होती है।

Home PageClick Here
UIDAI आधार कार्ड Official WebsiteClick Here

FAQs on Blue Aadhar card

Q. आधार कार्ड क्या होता है?

Ans: आधार कार्ड एक विशेष पहचान पत्र की तरह है जो भारत में हर व्यक्ति के पास होता है। यह लोगों को यह साबित करने में मदद करता है कि वे कौन हैं।

Q. आधार कार्ड अपडेट कैसे करें?

Ans: अपनी जानकारी अपडेट करने के लिए आप या तो UIDAI आधार वेबसाइट पर जा सकते हैं या नजदीकी आधार सेवा केंद्र पर जा सकते हैं।

Q. Blue Aadhaar card किसे दिया जाता है? (किसके लिए होता है?)

Ans: 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को Blue Aadhaar card मिलता है।

Q. आधार कार्ड के लिए बायोमेट्रिक डेटा क्यों जरूरी है?

Ans: बायोमेट्रिक डेटा जैसे उंगलियों के निशान या आंखों का स्कैन यह सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण है कि हम किसी की सही पहचान कर सकें।

Q. आधार कार्ड हेल्पलाइन नंबर क्या है?

Ans: आधार कार्ड का हेल्पलाइन नंबर मदद के लिए कॉल करने जैसा है और यह 1947 है।

Other Links


Leave a Comment